अब आएगा टी-20 विश्‍वकप का जलजला


आईपीएल का घमासान अपने अंतिम चरण में है। पर समाप्त होते-होते विदेश राज्य मंत्री शशि थरूर और आईपीएल आयोजन समिति के अध्यक्ष ललित मोदी के बीच उठे विवादों ने इस टूर्नामेंट के दामन पर कीचड़ का दाग लगा दिया। पैसा, शोहरत, ग्लैमर और मुनाफाखोरी ने इस टूर्नामेंट की सफलता की ऊंचाईयों पर पहुंचा दिया। स्वाभाविक है ि‍क इस पर उंगली तो उठेगी ही, आखिर आईपीएल के पास इतना पैसा आया कहां से, जो देश की सरकार को भी धता बताकर इस टूर्नामेंट को देश से बाहर विदेश में भी सफलतापूर्वक आयोजन करा दिया।
फिलहाल आईपीएल टूर्नामेंट अब आयकर विभाग तथा प्रवर्तन निदेशालय के शिंकजे में फंस चुका है। इसके असलियत की जांच की जा रही है। जांच के परिणामों पर इसका भविष्‍य तय होगा। पर पहली मई से अपने रोमांच में सराबोर कर देने को आतुर टी-20 विश्‍व‍कप वेस्टइंडीज में नया जलजला पैदा करने को बेताब है। वेस्टइंडीज में बारबाडोस, सेंट किट्स, गुआना और सेंट लुइस स्थानों पर टी-20 विश्‍व‍कप के मुकाबले खेले जाएंगे।
पहला मैच ग्रुप ‘ए’ की दो टीमों आस्ट्रेलिया और बंग्लादेश के बीच 30 अप्रैल को होगा। इस टूर्नामेंट में कुल 12 टीमें- आस्ट्रेलिया, पाकिस्तान, बंग्लादेश, भारत, न्यूजीलैंड, इंग्लैंड, दक्षिण अफ्रीका, वेस्टइंडीज, श्रीलंका, जिम्बाब्वे, आयरलैंड तथा अफगानिस्तान की टीमें भाग ले रहीं हैं। आयरलैंड तथा अफगानिस्तान को सहयोगी टीम के रूप में प्रवेश मिला है। पूरे टूर्नामेंट को चार समूहों में बांटा गया है। समूह ‘ए’ में पाकिस्तान, आस्ट्रेलिया और बांग्लादेश की टीमें हैं। समूह ‘बी’ में श्रीलंका, न्यूजीलैंड और जिम्बाब्वे की टीम, समूह ‘सी’ दक्षिण अफ्रीका, भारत तथा अफगानिस्तान की टीम और समूह चार में वेस्टइंडीज, इंग्लैंड और आयरलैंड की टीम सम्मिलित की गई है। इस टूर्नामेंट की विशेषता यह है कि कोई भी टीम प्रारंभिक मुकाबले जीतने के बाद सीधे सेमीफाइनल में नहीं पहुंच सकेगी, बल्कि वह ‘सुपर आठ’ में पहुंचेगी। सुपर आठ में टाॅप पर रहने वाली चार टीमें ही सेमी फाइनल में पहुंचेंगी। किंस्गटन ओवल में 16 मई को खेला जाएगा। इस समय पाकिस्तान, आयरलैंड, आस्ट्रेलिया, अफगानिस्तान, बांग्लादेश, जिंबाब्वे को छोड़कर बाकी टीमों के मुख्य खिलाड़ी आईपीएल में वयस्त हैं। इसके बाद वे अपने देष की टीम से जुड़ जाएंगे और विश्‍वकप को जीतने की दावेदारी प्रस्तुत करेंगे। जहां तक इन टीमों के विजेता बनने का प्रष्न है, सभी टीमें और शत-प्रतिशत प्रदर्शन करने को तैयार हैं, पर भारत की टीम ज्यादा उत्साहित है, क्योंकि उसके कुछ खिलाड़ी आईपीएल में अच्छा प्रदर्शन कर रहे हैं यदि वे अपनी लय वेस्टइंडीज में भी कायम रखते हैं तो विश्‍वकप के सरताज बन सकते हैं। आईपीएल टूर्नामेंट में विश्‍वकप के लिए चुनी गई टीम में से सुरेश रैना, रोहित शर्मा अपनी आईपीएल टीमों के लिए अच्छा प्रदर्शन कर रहें हैं और टीम को जिता भी रहें हैं, पर कप्तान महेंद्र सिंह धोनी, उपकप्तान वीरेंद्र सहवाग, युवराज सिंह, विराट कोहली, गौतम गंभीर अपेक्षाओं पर खरा नहीं उतर पा रहे हैं। गंभीर जरूर चेन्नई सुपर किंग मे निरुह शानदार पारी खेलकर फार्म में लौटने की आस जगाई है पर विश्‍वकप के लिए अभी और तैयारी की जरूरत है। इसी तरह गेंदबाजी में जहीर खान, अाशिष नेहरा, हरभजन सिंह, श्रीसांत, प्रवीण कुमार को अपनी ताकत दिखानी होगी। एक आलरांउडर के रूप में युसूफ पठान आईपीएल में वह धमाल नहीं दिखा पा रहें हैं। जिसके लिए वे जाने जाते हैं। इन सबके विपरीत मनोज तिवारी, सौरभ श्री वास्तव जैसे क्रिकेटर आईपीएल में खूब जम रहें हैं, पर विश्‍वकप टी-20 टीम का हिस्सा वे नहीं है।
कुल मिलाकर भारत की टीम संतुलित है, पर उसे आस्ट्रेलिया, पाकिस्तान, दक्षिण अफ्रीका तथा श्रीलंका से बड़ा मुकाबला करना है, पर टीम के प्रदर्शन को देखते हुए भारतीय टीम को इनसे पार पाना कठिन नहीं होगा।


-जगदीश सहाय

Category:
Reactions: 

0 comments:

Post a Comment